Jashn-e-Eid Milaad un Nabi Mubarak Wishes in Hindi

सभी अहले वतन को जश्न-ए-ईद मिलादुन्नबी (Eid Milaad un Nabi) के मौक़े पर बहुत बहुत मुबारक़बाद। आप सब की दुआ से आज मैंने कुछ शेऱ आमिना के लाल, हमारे प्यारे आक़ा मुहम्मद मुस्तफ़ा के इश्क़ में लिखे हैं उम्मीद करता हूँ आपको पसंद आएं।

Eid Milaad Un Nabi Wishes in Hindi

अंगुली के इशारे से जिसकी चाँद चल रहा है
ऐ आमिना तेरे घर में वो लाल पल रहा है
जश्न क्यों ना मनाए हम आमद-ए-मुस्तफ़ा पर
महशर में दुआ जो हमारी बख़्शिश की कर रहा है
जब कह दिया अल्लाह ने क़ुरआन में पढ़ो दुरुद
बच्चा बच्चा आज उम्मत का खिल रहा है
ज़माने को चलाने राह-ए-ख़ुदा पर
वो मुहम्मद अब्दुल्ला के घर चल रहा है

जश्न-ए-ईद को हम भी ईमान जगायेंगे
मुस्तफ़ा की आमद हम भी मनाएंगें
आज वो आया जिसके लिए दुनिया बनाई है
आज से ही ख़ुदा ने फिर ज़न्नत सजाई है
शुक्र उसका जितना करोगे कम ही होगा
या ख़ुदा तूने जो हमारी क़िस्मत चमकाई है

Jasn-e-Eid E Milaad Shayari

नबी की मुहब्बत अपने सीने में रखता हूँ
ये चाहत मैं ज़िन्दगी जीने में रखता हूँ
मुझे तैबा का बुलावा भला अब क्यों ना आए
मैं अपने दिल को मदीने में रखता हूँ

खिलता हुआ ग़ुलाब भी शरमा गया
दुनिया में जब आमिना का लाल आ गया
कुछ ऐसे मिटती चली गई ग़मगीन राहें
राह-ए-इबादत का जैसे सलाम आ गया

Read more Eid-ul-Adha Mubarak wishes in Hindi.

Eid Milad Un Nabi 2021 Date

आदम अलैहिस्सलाम से ईशा अलैहिस्सलाम तक
तमाम नबियों ने मांगी है उम्मत-ए-मुस्तफ़ा
हिसाब-क़िताब महशर में हम पर आसान हो जाएगा
जब तशरीफ़ लाएंगें वहां अहमद ए मुस्तफ़ा।

मदीने वाले का आशिक़ हूँ
आसमां मेरे सर पर है
मुझे फ़िक्र रहती है अब ईमान की
इसलिए नाम-ए-मुहम्मद ज़ुबाँ पर है।

2021 Milad Un Nabi

मक्का की गालियां गूंजती क्यों है
फ़रिश्तों की ज़मात घूमती क्यों है
सूरज कोई अमन का आने वाला है
मुहब्बत ज़मीं को चूमती यूँ है।

आबे ज़मज़म है नसीब मेरा
वहां कौसर का जाम पिलाएंगे
मुहब्बत में उनको पहचान लूंगा
जब क़ब्र में दीदार को आयेंगे

Eid Milad 2021 Shayari Images

पेश करता हूँ या ख़ुदा अब जां निसार है
इस क़दर मुझको भी महबूब मुहम्मद से प्यार है
फ़रिश्ते भेजे जब या ख़ुदा निकालने इस जान के
उनसे ज़रा कह देना ये मुहम्मदी इंसान है।

Many many congratulations to all Aziz brothers on the occasion of Jashne-Eid-Milad-Un-Nabi. Allah gives you the helps you all right times So, We this is our duty of heart and body that We also join the prayer of Allah.

Leave a Reply

Your email address will not be published.